आम बजट 2015 पर दूरदर्शन समाचार को दी गयी प्रधानमंत्री की प्रतिक्रिया का मूल पाठ वित्तमंत्री ने लोकसभा में पेश किया आम बजट नायडू की टिप्पणी पर संसद में हंगामा भारत के साथ सभी मुद्दों पर चर्चा होगी : पाकिस्तान रेल बजट 2015-16 के मुख्य बिन्दु
कतर में मोदी के कार्टून पर भारतीय शिक्षिका की नौकरी गई जयशंकर 1 मार्च से दक्षेस दौरे पर जाएंगे एक बार फिर बढे भारत की ओर अमेरिकी हाथ भारतीय-अमेरिकी प्रोफेसर को रसायन में शीर्ष पुरस्कार वैदिक रीति से विवाह करेंगी तुलसी गैबार्ड

चौथाई फीसदी सस्ता हो सकता है होम और कार लोन


भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा शॉर्ट टर्म के लिए लोन की ब्याज दरों में 0.50 प्रतिशत की कटौती के बाद होम, वीइकल और कॉरपोरेट कर्ज 0.25 प्रतिशत तक सस्ता हो सकता है।

केंद्रीय बैंक आरबीआई ने मंगलवार को सालाना मौद्रिक नीति समीक्षा में रीपो दर को आधा प्रतिशत घटाकर 8 फीसदी कर दिया है। यह बैंकों के लिए संकेत है कि वे कर्ज सस्ता करें। केनरा बैंक के कार्यकारी निदेशक ए के गुप्ता ने कहा, ‘रिजर्व बैंक ने मजबूत कदम उठाया है। रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती से कर्ज पर ब्याज दरें घटेंगी। बैंकों की आधार दर में 0.25 फीसद की कमी आने की संभावना है।’

उधारी की लागत घटने का कुछ लाभ बैंकों द्वारा आंशिक रूप से ग्राहकों को दिया जा सकता है। आधार दर यानी बेस रेट से कम की दर पर बैंक लोन नहीं दे सकते। इसमें कटौती का मतलब है कि सभी तरह के कर्ज सस्ते होंगे। आईडीबीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक आर के बंसल ने कहा कि मौद्रिक उपायों से आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कटौती के लिए मजबूत संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि आईडीबीआई बैंक अगले कुछ दिनों में ब्याज दरों की समीक्षा करेगा।

हिन्दी में राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय समाचार, लेख, भाषा - साहित्य एवं प्रवासी दुनिया से नि:शुल्क जुड़ाव के लिए
अपना ईमेल यहाँ भरें :

Leave a Reply