मोल्डिंग सिस्टम — अलका सिन्हा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नीति आयोग की पहली बैठक 6 फरवरी भारत ने किया पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण व्यक्ति पूजा को अनुचित नहीं मानता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
दिव्या माथुर की कहानी : अंतिम तीन दिन अमेरिकी कोर्ट ने सोनिया गांधी से पासपोर्ट दिखाने को कहा अमेरिकी न्यायाधीश ने 1984 के दंगों पर आदेश सुरक्षित रखा यमन में डूबा जहाज, 12 भारतीय नाविक हुए लापता पंजाबी गायक शिंदा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

अनिता कपूर की पुस्तक ‘सांसो के हस्ताक्षर’ और ‘ दर्पण के सवाल’ मूल्यवान सृजन- डॉ बलदेव वंशी


दिनांक 14 जुलाई ए 2012 को इंडिया वूमेन प्रेस क्लबए दिल्ली में कुछ मित्रों के बीच और  प्रसिद्ध लेखक आदरणीय बलदेव वंशी जी के आशीर्वाद से अयन प्रकाशन द्वारा प्रकाशित डॉ अनिता कपूर जी के 2  संग्रह ;हाइकु और कविता को आशीर्वाद मिला। शुभकामनाएँ देने के लिए श्रीमती  वीरबाला काम्बोज, सुदर्शन रत्नाकर, श्री सुभाष नीरव , श्री सुरेश यादव डॉ  सतीशराज पुष्करणा,  डॉ जेन्नी शबनम, सीमा मल्होत्रा, सुशीला शिवरमण श्री भूपाल सूद श्री रामेश्वर काम्बोज  हिमांशु,  प्रवासी दुनिया से श्री अनिल जोशी  व  सरोज शर्मा जी भी उपस्थित थे।

श्वैसे तो  डॉ अनिता कपूर के 4 कविता.संग्रह पहले भी प्रकाशित हो चुके है पर यह पाँचवा कविता.संग्रह सांसों के हस्ताक्षर कवयित्री के दूसरे चरण का मूल्यवान् आत्म.सर्जन है। ये  शब्द थे वहाँ उपस्थित डॉ  बलदेव वंशी जी के। डॉ  वंशी जी ने आगे कहा. अनिता कपूर की कविताओं ने सरल सहज भाषा के माध्यम से संश्लिष्ट मानव अनुभूति को व्यक्त करते हुए नए शब्द भी रेखांकित किए है। डॉ अनिता कपूर ने अपनी कुछ कवितओं का पाठ भी किया। वैसे तो डॉ अनिता कपूर के लिखे हाइकु कई पत्र.पत्रिकाओं में प्रकाशित होते रहे हैं लेकिन संग्रह के रूप में दर्पण के सवाल उनका प्रथम हाइकु.संग्रह है। इसके बाद डॉ बलदेव वंशी जी ने अपनी कविताओं का भावपूर्ण वाचन करके सबका मन मोह लिया । डॉ वंशी, डॉ सतीशराज पुष्करणा और रामेश्वर काम्बोज हिमांशु ने हाइकु के बारे में अपने विचार प्रस्तुत किए । बहुत ही आत्मीयतापूर्ण वातावरण में यह कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।

प्रस्तुति.रामेश्वर काम्बोज हिमांशु

rdkamboj@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय समाचार, लेख, भाषा - साहित्य एवं प्रवासी दुनिया से नि:शुल्क जुड़ाव के लिए
अपना ईमेल यहाँ भरें :

Leave a Reply