मोल्डिंग सिस्टम — अलका सिन्हा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नीति आयोग की पहली बैठक 6 फरवरी भारत ने किया पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण व्यक्ति पूजा को अनुचित नहीं मानता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
दिव्या माथुर की कहानी : अंतिम तीन दिन अमेरिकी कोर्ट ने सोनिया गांधी से पासपोर्ट दिखाने को कहा अमेरिकी न्यायाधीश ने 1984 के दंगों पर आदेश सुरक्षित रखा यमन में डूबा जहाज, 12 भारतीय नाविक हुए लापता पंजाबी गायक शिंदा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

डंडे की भाषा किसे समझाना चाहते हैं आजम : भाजपा


लखनऊ,जनवरी ३१ | भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उत्तर प्रदेश इकाई ने गुरुवार को नगर विकास मंत्री आजम खान पर पलटवार करते हुए कहा कि यह समझ में नही आ रहा कि वह डंडे की भाषा में किसे समझाने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार ही लगातार दागी अधिकारियों को बचाने का काम कर रही है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि आजम कह रहे हैं कि अधिकारी सिर्फ डंडे की भाषा समझते हैं। आखिर आजम यह बताएं कि दागी अधिकारियों को बचाने में जुटी सपा सरकार अब किस डंडे के इस्तेमाल की बात कर रही है।

पाठक ने कहा कि सूबे में लगभग 10 महीने पहले सपा की सरकार बनने के बाद से ही कई एैसे अवसर आए जिस दौरान सपा दागी और भ्रष्ट अधिकारियों को खुद ही बचाती नजर आयी।

उन्होंने कहा कि एनआरएचएम घोटाले के आरोपी वरिष्ठ आईएएस अधिकारी प्रदीप शुक्ला को भी सरकार ने हमेशा बचाने का प्रयास किया। राजीव कुमार, संजीव शरण और राज बहादुर सिंह जैसे अधिकारियों को बचाने का काम कौन कर रहा है।

पाठक कहते हैं कि दागी अधिकारियों को बचाने का काम करने वाली यह सरकार अब अधिकारियों से डंडे की भाषा बोलने की बात कर रही है। दागी अधिकारियों का पक्ष लेने की वजह से ही आज यह नौबत आयी है कि आजम अधिकारियों को डंडे की भाषा समझाने की बात कह रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि नगर विकास मंत्री आजम खान ने कार्यकर्ताओं की बैठक में दिए गए अपने एक बयान में कहा था कि कार्यकर्ता इस मुगालते में न रहें कि अधिकारी उनके रिश्तेदार हैं। अधिकारी किसी के नहीं होते वे केवल डंडे की भाषा समझते हैं और डंडा जनता के पास है।

हिन्दी में राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय समाचार, लेख, भाषा - साहित्य एवं प्रवासी दुनिया से नि:शुल्क जुड़ाव के लिए
अपना ईमेल यहाँ भरें :

Leave a Reply