मोल्डिंग सिस्टम — अलका सिन्हा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नीति आयोग की पहली बैठक 6 फरवरी भारत ने किया पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण व्यक्ति पूजा को अनुचित नहीं मानता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
दिव्या माथुर की कहानी : अंतिम तीन दिन अमेरिकी कोर्ट ने सोनिया गांधी से पासपोर्ट दिखाने को कहा अमेरिकी न्यायाधीश ने 1984 के दंगों पर आदेश सुरक्षित रखा यमन में डूबा जहाज, 12 भारतीय नाविक हुए लापता पंजाबी गायक शिंदा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

उत्तराखंड में बादल फटा, 50 लापता


 उत्तरकाशी जून 17 : उत्तराखंड में कुदरत के कहर से भारी तबाही मची हुई है. भारी बारिश के कारण अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं केदारनाथ के रामबाड़ा में बादल फटने के कारण 50 लोग लापता हैं. रुद्रप्रयाग में भी इस कहर के कारण 2 हजार लोग फंसे हुए हैं.

उत्तरकाशी में बादल फटने के बाद गंगा, यमुना, असिगंगा और भागीरथी का जल स्तर तेजी से बढ़ा है. पिछले दो दिनों से हो रही बारिश के कारण कई घर पानी में समा गए हैं.

वहीं उत्तरकाशी और चमोली जिलों में भूस्खलन और बाढ़ से सड़कें और पुल टूटने से चार धाम की यात्रा अस्थायी रूप से रोक दी गई. रविवार को देहरादून के प्रेमनगर की न्यू मीठी बेरी इलाके में एक मकान गिर जाने से एक ही परिवार के 3 व्यक्तियों की मौत हो गई.

आपदा प्रबंधन अधिकारी के मुताबिक खराब मौसम की वजह से केदारनाथ यात्रा पर भी रोक लगा दी गई है. गंगोत्री-यमुनोत्री जाने वाले हजारों श्रद्धालु रास्ते में ही फंसे हुए हैं, क्योंकि पीपलमंडी, बराकी और नालुपानी में भूस्खलन से सारे रास्ते बंद कर दिए गए हैं. रास्ते बंद होने की वजह से उत्तरकाशी जिले के सारे होटलों और धर्मशालाओं में भी लोगों की भारी भीड़ है.

उत्तराखंड प्रशासन ने हेल्‍पलाइन नंबर भी जारी कर दिए हैं. आप इन नबंर पर फोन कर अपने परिजनों के बारे में जानकारी ले सकते हैं.

– 0135-2710334

– 0135-2710335

– 0135-2710233

*****

हिन्दी में राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय समाचार, लेख, भाषा - साहित्य एवं प्रवासी दुनिया से नि:शुल्क जुड़ाव के लिए
अपना ईमेल यहाँ भरें :

Leave a Reply