गोलीबारी के मामले में बेहद सख्त हैं प्रधानमंत्री मोदी बिलावल भुट्टो जरदारी ने कश्मीर विवाद को संयुक्त राष्ट्र की एक बड़ी असफलता करार दिया साहित्यकार शैलेश मटियानी के बेटे फेरी लगाकर बेच रहे किताबें महाराष्ट्र में मोदी ने लोगों को हिसाब को देने कहा सुब्रत रॉय की रिहाई के लिए हेजफंड की मदद लेगा सहारा समूह
नवाज शरीफ नोबेल पुरस्कार कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेंगे भारतीय-अमेरिकी के नाम पर अमेरिका में बिजनेस स्कूल भारतीय-अमेरिकी प्रोफेसर थॉमस कैलथ को नेशनल मेडल ऑफ साइंस मोदी और ओबामा ने ऑप एड पेज पर लिखा संयुक्त आलेख नरेंद्र मोदी और ओबामा की वार्ता से नई उम्मीदें: विशेषज्ञ

Posts Tagged ‘हरिवंश राय बच्चन की कविताएँ’


मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन

Tuesday, May 17th, 2011
मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन   मधुशाला मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला,प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला,पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा,सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला,एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा लेकर प्याला,जीवन की मधुता ...