आज भी भारत में बसते हैं महात्मा गांधी: ओबामा ओबामा व मोदी के गले मिलने की फोटो वायरल हुई राजपथ पर ओबामा देखेंगे भारतीय सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विविधता की झांकी गुजरात के स्कूलों में सरस्वती वंदना के निर्देश से विवाद भारत, पाक से संबंध एक-दूसरे की कीमत पर नहीं
संघ को आतंकी संगठन घोषित करने की मांग भारतीय-अमेरिकी को मिला मार्टिन लूथर किंग पुरस्कार भारतवंशी सैम मेरीलैंड के मंत्रिमंडल में नामित अमेरिकी बनने आए हैं, भारतीय-अमेरिकी नहीं रजत गुप्ता की प्रतिबंध के खिलाफ याचिका खारिज

Posts Tagged ‘हरिवंश राय बच्चन की कविताएँ’


मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन

Tuesday, May 17th, 2011
मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन   मधुशाला मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला,प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला,पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा,सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला,एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा लेकर प्याला,जीवन की मधुता ...