मोदी की विदेश यात्रा में दिखा भारत का आत्मविश्वास प्रधानमंत्री : भारत ने सभी को साथ लेकर चलने की परंपरा को जीवित रखा हैं एनजेएसी कानून पर सुनवाई: संवैधानिक पीठ का होगा पुनर्गठन भारत और कनाडा के बीच द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर जर्मनी में नेताजी सुभाष चद्र बोस के परिजनों से मिले प्रधानमंत्री
कनाडा में मोदी के स्वागत को तैयार भारतीय समुदाय मोदी का भाषण सुनने उमड़े 10,000 भारतवंशी कनाडाई नागरिक ओबामा ने भारतवंशी को प्रमुख पद पर नियुक्त किया बेल्जियम में मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस यमन से 382 केरलवासी लौटे, नर्सो का लौटने से इंकार

Posts Tagged ‘हरिवंश राय बच्चन की कविताएँ’


मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन

Tuesday, May 17th, 2011
मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन   मधुशाला मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला,प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला,पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा,सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला,एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा लेकर प्याला,जीवन की मधुता ...