फिजी को 70 मिलियन डॉलर की मदद करेगा भारत, तीन समझौतों पर हस्ताक्षर तीन देशों के दौरे के बाद स्वदेश लौटे मोदी, कई समझौतों पर किये हस्ताक्षर विश्व बैंक :इबोला बीमारी से मरने वालों की संख्या 5420 पहुंची गृहमंत्री ने कहा, जम्मू-कश्मीर में चुनावी मुद्दा नहीं बनेगा अनुच्छेद 370 रामपाल की जमानत याचिका खारिज, 2 बजे होगी पेशी
नवाज शरीफ नोबेल पुरस्कार कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेंगे भारतीय-अमेरिकी के नाम पर अमेरिका में बिजनेस स्कूल भारतीय-अमेरिकी प्रोफेसर थॉमस कैलथ को नेशनल मेडल ऑफ साइंस मोदी और ओबामा ने ऑप एड पेज पर लिखा संयुक्त आलेख नरेंद्र मोदी और ओबामा की वार्ता से नई उम्मीदें: विशेषज्ञ

Posts Tagged ‘हरिवंश राय बच्चन की कविताएँ’


मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन

Tuesday, May 17th, 2011
मधुशाला: हरिवंश राय बच्चन   मधुशाला मृदु भावों के अंगूरों की आज बना लाया हाला,प्रियतम, अपने ही हाथों से आज पिलाऊँगा प्याला,पहले भोग लगा लूँ तेरा फिर प्रसाद जग पाएगा,सबसे पहले तेरा स्वागत करती मेरी मधुशाला।।१। प्यास तुझे तो, विश्व तपाकर पूर्ण निकालूँगा हाला,एक पाँव से साकी बनकर नाचूँगा लेकर प्याला,जीवन की मधुता ...