मोल्डिंग सिस्टम — अलका सिन्हा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ नीति आयोग की पहली बैठक 6 फरवरी भारत ने किया पृथ्वी-2 मिसाइल का सफल प्रायोगिक परीक्षण व्यक्ति पूजा को अनुचित नहीं मानता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
दिव्या माथुर की कहानी : अंतिम तीन दिन अमेरिकी कोर्ट ने सोनिया गांधी से पासपोर्ट दिखाने को कहा अमेरिकी न्यायाधीश ने 1984 के दंगों पर आदेश सुरक्षित रखा यमन में डूबा जहाज, 12 भारतीय नाविक हुए लापता पंजाबी गायक शिंदा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

यूपीए का नारा है…मर जवान, मर किसान: नरेंद्र मोदी


BJP's PM candidateजम्मू , मार्च २६ : जम्मू के हीरानगर में भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं ब्याज समेत जनता का प्यार लौटाऊंगा। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे जनता से इतना प्यार मिल रहा है कि इसको लौटाना जरुरी है। इसे मैं विकास करके लौटाऊंगा। उन्होंने कहा कि बुराईयों पर भारत विजय पाना चाहता है और 30 साल से जम्मू लहूलुहान हो गया है। उन्होंने कहा कि यूपीए ने ‘जय जवान, जय किसान’ नारे को बदल दिया है, अब कांग्रेस का नारा है ‘मर जवान, मर किसान’‍।
भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी जम्मू एवं कश्मीर में बुधवार को पार्टी का चुनाव अभियान शुरू करने से पूर्व माता वैष्णो देवी के दरबार में मत्था टेका।
लोकसभा चुनाव से पहले अधिकतर मतदाताओं तक पहुंच बनाने और मोदी ब्रांड को और भी आक्रामक रूप से पेश करने के लिए भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी 26 मार्च से देश भर में 185 भारत विजय रैलियां करेंगे, जिसकी शुरुआत जम्मू से होगी। मोदी 26 मार्च से लोकसभा के 295 चुनाव क्षेत्रों में 185 भारत विजय रैलियों को संबोधित करेंगे।
मोदी यूं तो काफी लंबे समय से देश भर में घूम-घूम कर चुनावी रैलियां कर रहे हैं, लेकिन चुनाव की तिथियां घोषित हो जाने पर भाजपा इस अंतिम चरण में मोदी फॉर पीएम की अपनी मुहिम पूरे दम-खम से बढ़ाना चाहती है। मोदी ब्रांड को और भी आक्रामक रूप से जनता के समक्ष पेश करने के लिए पार्टी ने विस्तत रणनीति तैयार की है।
वह ऊधमपुर-डोडा संसदीय क्षेत्र की हीरानगर तहसील में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। इसके बाद वह दिल्ली और बुलंदशहर में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ सराहनीय कार्य कर चुके पूर्व आइजी फारूक खान समेत तीन अन्य लोगों का पार्टी में शामिल होने पर स्वागत किया। गौरतलब है कि फारूक खान के दादा कर्नल पीर मुहम्मद जनसंघ के पहले राज्य अध्यक्ष रहे हैं ।

हिन्दी में राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय समाचार, लेख, भाषा - साहित्य एवं प्रवासी दुनिया से नि:शुल्क जुड़ाव के लिए
अपना ईमेल यहाँ भरें :

Leave a Reply